मैं देशद्रोही का शव नहीं ले सकता – लखनऊ एनकाउंटर में मारे आतंकी सैफुल्ला का शव लेने से पिता का इनकार

लखनऊ एनकाउंटर में मारे गए आईएसआईएस आतंकी सैफुल्ला के पिता सरताज ने बेटे की बॉडी लेने से मना कर दिया है. अपने बेटे की असलियत जान पिता को काफी बुरा लगा. एटीएस ने मंगलवार को एनकाउंटर में आईएसआईएस आतंकी सैफुल्ला को लखनऊ में मार गिराया था. हालांकि एटीएस सैफुल्ला को जिंदा पकड़ना चाहती थीं ताकि आतंकियों के मॉड्यूल की और जानकारी मिल सके.

आतंकी के भाई खालिद से एटीएस ने मुठभेड़ के दौरान आखिरी बार सैफुल्ला से फ़ोन पर बात कराई थी कि वह सरेंडर कर दे, लेकिन भाई नहीं माना. सैफुल्ला की बॉडी के पास बम बनाने के तरीके, रेल नेटवर्क का मैप और तमाम उकसाने वाले साहित्य बरामद हुए हैं.

सैफुल्ला के पिता सरताज को अंदाजा नही था की उनका बेटा आतंकियों के साथ मिला हुआ है और अब उन्होंने अपने बेटे की बॉडी लेने से मना कर दिया है. न्यूज़ एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए सैफुल्ला के पिता ने कहा कि यह देश के हित में नहीं है. मैं देशद्रोही का शव नहीं ले सकता.

सैफुल्ला के बारे में इस खुलासे से पूरा परिवार स्तब्ध है. एक रिश्तेदार ने का कहना है कि किसी को भी अंदाजा नही था है कि वह ऐसा करेगा. वह पांच टाइम की नमाज पढ़ता था. किसी ने उससे यह उम्मीद नहीं की थी.

पुलिस का कहना है कि सैफुल्ला का भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन ब्लास्ट में हाथ हो सकता है, जिसमें 9 लोग घायल हुए थे. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने संदिग्धों की पहचान भी की है. जिसमें से दो को कानपुर में और एक को इटावा में गिरफ्तार किया गया है. साथ ही तीन लोगों को मध्य प्रदेश में गिरफ्तार किया गया है.