11 साल की पाकिस्तानी लड़की ने पीएम मोदी को लिखा ख़त, कहा – चलो फैसला करते हैं आज से हम गोलियां नही बुक्स खरीदेंगे

भारत और पाकिस्तान के बीच हमेशा से ही संबंध ख़राब रहे हैं. पाकिस्तान हमेशा से भारत में आतंकी हमले करवाता रहा है और कश्मीर में हालात को ख़राब करने में भी पाकिस्तान की भूमिका रही है. हालांकि भारत की तरफ से कई बार पाकिस्तान से दोस्ती करने की कोशिश की गई लेकिन हर बार पाकिस्तान ने भारत की पीठ में छुरा घोंपा है.

ऐसा नही है की हर पाकिस्तानी को भारत से नफरत है. वहां भी कुछ लोग है जो भारत के साथ दोस्ती चाहते हैं, जंग छोड़कर शांति की बात करते हैं. उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में बीजेपी को मिली बड़ी जीत के बाद एक 11 साल की पाकिस्तानी लड़की ने पीएम मोदी को इस जीत पर बधाई देते हुए एक ख़त लिखा है.

पीएम मोदी को खत लिखने वाली लड़की का नाम अकीदत नावीद है और अपने ख़त में पीएम मोदी से गुजारिश की है कि वे दोनों देशों के बीच ‘शांति’ दूत बने और जिस तरह उन्होंने भारत के लोगों का दिल जीता है उसी तरह से भारत – पाकिस्तान दोनों देशो के ज्यादा से ज्यादा लोगों का दिल जीतने की तरह अपना ध्यान लगाये.

अकीदत ने पीएम मोदी को 2 पन्नों का ख़त लिखा है. ख़त में अकीदत ने लिखा है, ”एक बार मेरे अब्‍बू ने कहा था कि दिलों को जीतना बहुत बड़ा काम है. संभवतया आपने भारतीय लोगों का दिल जीता है, इसीलिए यूपी चुनावों में आपको इतनी बड़ी कामयाबी मिली है. लेकिन मैं आपसे यह कहना चाहती हूं कि यदि आप अधिकाधिक भारतीयों और पाकिस्‍तानियों का दिल जीतना चाहते हैं तो आपको मित्रता और शांति से संबंधित उपायों पर ध्‍यान देना चाहिए. इन दोनों ही देशों को आपस में मधुर संबंधों की दरकार है.”

pak girl writes letter to pm narendra modi page 1

अकीदत ने अपने ख़त में आगे लिखा है, “ऐसे में आप दोनों देशों के बीच शांति के दूत बन सकते हैं. हमको यह फैसला करना करना होगा कि हम गोलियां नही बुक्स खरीदेंगे. हम बंदूकें नहीं खरीदेंगे बल्कि उसकी जगह गरीबों के लिए दवाएं खरीदेंगे…”

pak girl writes letter to pm narendra modi page 2

अकीदत ने इससे पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए ख़त लिखा था. इसके अलावा अकीदत राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी ख़त लिख चुकी हैं.

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here