केजरीवाल व मनीष तिवारी की मौजूदगी में यशवंत सिन्हा का पीएम मोदी पर पलटवार, दुर्योधन और दुशासन की मिसाल देकर दिया जवाब

भारतीय जनता पार्टी(BJP) के भीतर चल रही महाभारत रुकने का नाम नही ले रही है बल्कि और तेज होती जा रही है. बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर से अपनी ही पार्टी पर हमला बोलते हुए महाभारत के बदनाम पात्रों दुर्योधन और दुशासन की मिसाल दे डाली है.

यशवंत सिन्हा पिछले कुछ दिनों से लगातार केंद्र सरकार को निशाना बना रहे हैं जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आलोचकों की तुलना महाभारत के किरदार शल्य से की थी. हालांकि पीएम मोदी ने किसी का नाम नहीं लिया था, लेकिन माना यही गया कि उनका पहला इशारा यशवंत सिन्हा की तरफ ही है.

पीएम मोदी के द्वारा महाभारत के किरदार शल्य का जिक्र करने के जवाब में यशवंत सिन्हा ने भी महाभारत छेड़ते हुए दुर्योधन और दुशासन की मिसाल दे डाली. यशवंत सिन्हा ने कहा, ”शल्य को दुर्योधन ने धोखे से अपने पक्ष में किया था. कौरव सौ भाई थे लेकिन दुर्योधन और दुशासन को छोड़ कर किसी को न तो आप जानते हैं और न ही मैं.”

जब यशवंत सिन्हा ये जवाबी हमले कर रहे थे तो वहां मंच पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौजूद थे. दरअसल मनीष तिवारी की किताब Tidings of Troubled Times के विमोचन कार्यक्रम का था जिसमे यशवंत सिन्हा मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे. अरविन्द केजरीवाल भी विमोचन कार्यक्रम में मौजूद रहे.